How-To-Guide hindi Search

श्री हनुमान जी के १०८ पवित्र नाम है


















श्री हनुमान जी  भक्तों की रक्षार्थ सदैव तत्पर रहते हैं। श्री हनुमान जी महाराज के 108 नामों के साथ हनुमान जी के चमत्कारी मंत्रो का भी जाप किया जाए तो यह अत्यंत शुभ फलदायक होता है। 

ॐ हनुमते नमः
 ॐ श्रीप्रदाय नमः
 ॐ वायुपुत्राय नमः
 ॐ अजराय नमः
 ॐ अमृत्याय नमः
 ॐ मारुतात्मजाय नमः
 ॐ वीरा वीराय नमः
 ॐ ग्रामवासाय नमः
 ॐ जनाश्रयदाय नमः
 ॐ रुद्राय नमः
 ॐ अनागाय नमः  
ॐ धनदायाय नमः
 ॐ अकायाय नमः
 ॐ वीरये नमः
 ॐ वाग्मिने नमः
 ॐ पिंगाक्षाय नमः
 ॐ वरदाये नमः
 ॐ सीता शोकविनाशनाय नमः
 ॐ रक्तावाससे नमः
 ॐ शिवाय नमः
 ॐ निधिपतये नमः  
ॐ मुनाय नमः
 ॐ शर्वाय नमः
 ॐ व्यक्ताव्यक्ताय नमः
 ॐ रसाधराय नमः
 ॐ पिंगकैशाय नमः
 ॐ पिंगरोमने नमः
 ॐ श्रुतिगम्याय नमः
 ॐ सनातनाय नमः
 ॐ पराय नमः
 ॐ अव्यक्ताय नमः
 ॐ अनादाय नमः
 ॐ भगवते नमः
 ॐ दैव्याय नमः
 ॐ विश्वहेतवे नमः
 ॐ निराश्रयाय नमः
 ॐ आरोग्यकारते नमः
 ॐ विश्वेश्वाय नमः
 ॐ विश्वनायकाय नमः
 ॐ हरिश्वराय नमः  
ॐ विश्वमूर्तये नमः
 ॐ विश्वकाराय नमः
 ॐ विषडाय नमः
 ॐ विश्वात्मनाय नमः
 ॐ विश्वाहाराय नमः
 ॐ राव्याय नमः
 ॐ विश्वचेशलाय नमः
 ॐ विश्वसेवाय नमः
 ॐ विश्वाय नमः
 ॐ विश्वगम्याय नमः  
ॐ विश्वाध्ययाय नमः
 ॐ बालाय नमः
 ॐ वृद्धाध्येय नमः
 ॐ युवाय नमः
 ॐ कलाधराय नमः
 ॐ प्लावंगमय नमः
 ॐ कपिशेषताय नमः
 ॐ विडयाय नमः
 ॐ ज्येष्ठाय नमः
 ॐ तटवाय नमः  
ॐ वनचराय नमः
 ॐ तत्वगामय नमः
 ॐ सखये नमः
 ॐ अजाय नमः
 ॐ अंजनीसूताय नमः
 ॐ अवायगराय नमः
 ॐ भार्गाय नमः
 ॐ रामाय नमः
 ॐ रामभक्ताय नमः
 ॐ कल्याणाय नमः
 ॐ प्रकृतिस्थितिराय नमः  
ॐ विश्वंभाराय नमः
 ॐ ग्रामासवंताय नमः
 ॐ धराधराय नमः
 ॐ भुरलोकाय नमः
 ॐ भुवरलोकाय नमः
 ॐ स्वर्गालोकाय नमः
 ॐ महालोकाय नमः
 ॐ जनलोकाय नमः
 ॐ तापसे नमः
 ॐ अव्यायाय नमः  
ॐ सत्याय नमः
 ॐ ओंकार जन्माय नमः
 ॐ प्राणवायेय नमः
 ॐ व्यापकाय नमः
 ॐ अमलाय नमः
 ॐ शिवधर्मा-प्रतिष्ताय नमः
 ॐ रामेशत्राताय नमः
 ॐ फाल्गुनप्रियाय नमः
 ॐ राक्षोधनाय नमः
 ॐ पंदारिकाक्षायाय नमः
ॐ दिवाकाराय नमः
 ॐ समप्रभाय नमः
 ॐ द्रोणहर्ताय नमः
 ॐ शक्ति राक्षसाय नमः
 ॐ गोसपदिकृतिसाय नमः
 ॐ वारिशाय नमः
 ॐ पूर्णकमाय नमः
 ॐ धरा दिपाय नमः
 ॐ शक्ति राक्षसाय नमः
 ॐ मारकाय नमः
 ॐ रामदूताय नमः
ॐ कृष्णाय नमः
 ॐ शरणागतवत्सलाय नमः
 ॐ जानकीपराणदाताय नमः
 ॐ रक्षप्राणहारकाय नमः
 ॐ पूर्णाय नमः
 ॐ सत्याय नमः
 ॐ पितावाससेय नमः
 ॐ देवाय नमः