How-To-Guide hindi Search

वैजाइनल यीस्ट इन्फेक्शन से बचने के लिए हमें क्या करना चाहिए






वैजाइनल यीस्ट इन्फेक्शन एक ऐसी समस्या है जिससे अधिकतर लड़कियां परेशान रहती हैं। सबसे बड़ी समस्या यह है कि उन्हें इस बात की शंका रहती है कि कहीं ये बीमारी उनके माध्यम से किसी और में न फ़ैल जाये। क्या सच में वैजाइनल यीस्ट इन्फेक्शन एक संक्रामक बीमारी है और इसकी चपेट में और कौन कौन आ सकता है? इन सब सवालों के जवाब के लिए हमने गुडगाँव स्थित वेल वुमन क्लिनिक की गायनकोलॉजिस्ट डॉ. नुपुर गुप्ता से बातचीत की।

डॉ. नुपुर बताती हैं कि वैजाइनल यीस्ट इन्फेक्शन होने की कुछ ख़ास वजहें होती हैं। जो लड़कियां वैजाइनल यीस्ट इन्फेक्शन से पीड़ित होती हैं अगर वे सेक्स करें तो इस बात की संभावना काफी बढ़ जाती है कि उनके मेल पार्टनर को भी इन्फेक्शन हो जाये। हालांकि ऐसा होने की संभावना काफी कम होती  है। ठीक इसी तरह अगर आप वैजाइनिटिस या कैंडिडीएसिस से पीड़ित हैं तो ऐसे में दोनों पार्टनर का इलाज होना चाहिए जिससे किसी भी तरह के संक्रमण को आगे फैलने से रोका जा सके। इसलिए यह बात नोट कर लें कि अगर आप यीस्ट इन्फेक्शन से पीड़ित हैं तो अगले कुछ दिनों तक पार्टनर के साथ सेक्स न करें।

इसके अलावा कुछ महिलाओं में यह समस्या पब्लिक टॉयलेट इस्तेमाल करने के कारण हो जाती है। डॉ. नुपुर बताती हैं कि अगर आपको कभी भी मजबूरी में पब्लिक टॉयलेट इस्तेमाल करना पड़े तो सीट को टिश्यू पेपर से पोंछकर ही उसका इस्तेमाल करें। ऐसा इसलिए क्योंकि जब आप यूरिन पास करती हैं तो शरीर से कुछ बैक्टीरिया और यीस्ट सीट पर जाकर चिपक जाते हैं और आगे इस्तेमाल करने वालों को अपनी चपेट में ले लेते हैं। इसलिए साफ़ सफाई का विशेष ध्यान रखें।

आपको यह जानकर आश्चर्य होगा कि सिर्फ महिलायें ही नहीं बल्कि पुरुष भी यीस्ट इन्फेक्शन के शिकार होते हैं। हालांकि यह इन्फेक्शन पुरुषों की तुलना में महिलाओं में ज्यादा इसलिए होते हैं क्योंकि एक तो उनका सर्फेस  एरिया बड़ा होता है दूसरा उनके वैजाइना में ब्लड फ्लो भी काफी ज्यादा रहता है। अगर आप प्रेग्नेंट हैं या मेनोपॉज के दौर से गुजर रही हैं या फिर डायबिटीज की मरीज हैं तो आपमें यीस्ट इन्फेक्शन होने की संभावना काफी बढ़ जाती है। ऐसी किसी भी समस्या पर तुरंत डॉक्टर से अपनी जांच करवाएं।