How-To-Guide hindi Search

स्त्रियों में हों ये ११ गुण उनके पति होते है भाग्यशाली जाने क्या






हमारे यहाँ कामशास्त्र और कामसूत्र दो ऐसे प्राचीन धर्मग्रंथ हैं जिन्हें ले कर लोगों के बीच में काफी ग़लतफ़हमी हैं। आज हम आपकी इसी ग़लतफ़हमी दूर करेंगें। कामशास्त्र एक भारतीय साहित्य है जो की कामदेव अर्थात इच्छा के ज्ञान के साथ संबंधित है। वहीँ कामसूत्र व्यावहारिक अभिविन्यास और स्पष्टीकरण के साथ संबंधित है। 

कामसूत्र के विपरीत, कामशास्त्र सामुद्रिक शास्त्र, एक वैदिक परंपरा है जो एक व्यक्ति के चेहरे, आभा और पूरे शरीर के विश्लेषण का अध्ययन करता है साथ ही इसी तर्ज पर उनके साथी और उनके व्यक्तित्व के साथ एक व्यक्ति की अनुकूलता के विश्लेषण के बारे में भी बताता है।

तिल, जन्म के निशान, पैर मेहराब और लक्षणों के बारे में सामुद्रिक शास्त्र में बताया गया है। लेकिन कामशास्त्र में इच्छा, प्रेम और यौन संगतता, और शादी अनुकूलता के लक्षणों के बारे में बताया गया।

आज हम आपको कुछ ऐसी ही महिलाओं के बारे में बातएंगे जो कामशास्त्र के मुताबिक शादी के लिए लायक़ या गुणी मानी जाती है।

○  एक अच्छी महिला के गुण :

•  एक ऐसी महिला जो अपने पति के बराबरी के परिवार से आती हो और उसका घर उच्चपद और शालीनता के लिए जाना जाता हो।
•  स्त्री जो बुद्धिमान हो और सांसारिक घटनाओं के बारे में जानकारी रखती हो। उसका शिक्षित होना समाज और उसके परिवार के विकास को सुनिश्चित करता है।
•  वह स्त्री जो अपने आसपास के माहौल में सतर्क रहती हो और अपने से नीचे के लोगों से और ऊपर के लोगों से अच्छे से व्यवहार करती हो।
•  जो स्त्री धर्म के प्रति सम्मान और सभी रस्मों और सामाजिक कर्तव्यों का निर्वहन पूरी निष्ठा से करती हो। 
•  जो स्त्री देवी लक्ष्मी की तरह पैसे बचाती हो और अपने परिवार की सहायता करती हो। जिसकी आवाज़ देवी सरस्वती मीठी हो और देवी पार्वती की तरह अपने पति को समर्पित हो।
•  जो स्त्री अपने परिवार को हर तरह की बुराई से बचाती और एक मंत्री की तरह सलाह देती है और साथ सबका ख्याल रखती हो। 
•  जिन स्त्रियों के भाई बहन होते हैं उन में बहुत धैर्य होता है। वे बच्चों के साथ अच्छा व्यवहार करती हैं साथ ही उनमें रिश्तों के प्रति सम्मान रहता है। 
•  जो स्त्री अपने प्यार और निजी जीवन के बारे में अच्छे से जानती हो वह हमेशा ही सम्मानित की जाती है। 
•  जो स्त्री अपने से बड़ों का सम्मान करती हो साथ ही अपने किसी भी काम के लिए बड़ों की राय लेती हो और उनके ज्ञान को अपने और परिवार के भलाई के लिए इस्तेमाल करती हो। 
•  जो स्त्री अच्छा खाना बना सकती हो साथ ही वह कभी किसी को भूखा ना रखती हो। 
•  जो स्त्री अपने परिवार के मुश्किल समय में अपने परिवार के साथ मजबूती के साथ खड़ी रहे। साथ ही अपने प्यार और भरोसा से उन्हें मुश्किल समय से बाहर निकल लाये।